Menu

अलीगढ़: 10 लाख की फिरौती के लिए अपहरण, हत्या कर शव फेंका, तीन गिरफ्तार

Published: May 17, 2020 at 12:09 am

nobanner
Print Friendly, PDF & Email

वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- 10 लाख की फिरौती के लिए एक मासूम की हत्या कर उसका शव फेंक दिया। आरोपियों में मृतक का एक पड़ोसी भी शामिल है। पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार 15.05.2020 की दोपहर को थाना बन्नादेवी के त्रिमूर्ति नगर निवासी धर्मेन्द्र सिंह पुत्र गोपीचन्द्र जो कि बैंक ऑफ बड़ौदा में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं द्वारा पुलिस को अपने पुत्र अभिषेक (उम्र करीब 16 वर्ष) के सम्बन्ध में सूचना दी कि उसका पुत्र अभिषेक उपरोक्त घर से फोटोशूट के लिए कहकर गया था। लेकिन उनकी बैंक के एक क्लर्क के पास 13.10 बजे अभिषेक के मोबाइल नम्बर से फोन आया कि अभिषेक का अपहरण कर लिया है, और दस लाख रूपये लेकर सारसौल पर छोटू ढाबे पर लेकर आ जाओ।

सूचना मिलने पर पुलिस ने मामला दर्ज कर सर्विलान्स की सहायता से आरोपी शिवम कुमार पुत्र किशन कुमार निवासी त्रिमूर्तिनगर थाना बन्नादेवी अलीगढ़ मूल पता ग्राम रायपुर थाना गभाना उम्र करीब 19 वर्ष, अनिकेत चौहान उर्फ बच्चू पुत्र मनोज चौहान निवासी 5/69 त्रिमूर्तिनगर थाना बन्नादेवी मूल निवासी ग्राम ऊमरी थाना चण्डौस उम्र करीब 19 वर्ष व बाबू उर्फ तपन पुत्र सुदर्शन निवासी बरौली चौक थाना बन्नादेवी उम्र करीब 18 वर्ष तथा दुर्वेश पुत्र रामप्रकाश निवासी बरौला थाना बन्नादेवी प्रकाश में आये। पुलिस ने शनिवार को शिवम, अनिकेत व बाबू उर्फ तपन को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ तो उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

आरोपियों ने बताया कि हम चारों ने मिलकर योजनाबद्ध तरीके से अभिषेक को टिक टॉक वीडियो बनाने के बहाने घर से बुलाकर गभाना हाईवे पर ले गये और अभिषेक के फोन से ही 10 लाख रूपये की फिरौती मांगी थी। उसके पिता ने रुपयों की व्यवस्था करने में समय मांगा था। शिवम अपह्रत/मृतक अभिषेक का पड़ोसी था, पहचान लिये जाने के डर से चारों ने मिलकर अभिषेक को गला दबा कर मार दिया और शव को थाना गभाना क्षेत्र अन्तर्गत ग्राम रूस्तमपुर के मजरा पला सल्लू के पास बम्बे में फेंक दिया था।

पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर मृतक अभिषेक का शव एवम मृतक का मोबाईल फोन बरामद कर कर लिया गया। मृतक के शव को पोस्टमार्टम हेतु मोर्चरी भेज दिया है। फरार दुर्वेश की गिरफ्तारी हेतु दबिश दी जा रही है ।




अनलॉक 1.0: पास बनना बंद, आज से कहीं भी आ-जा सकेंगे