Menu

लोकतंत्र के चौथे स्तंभ का अस्तित्व समाप्त होने के कगार पर, आए दिन देश में हो रहे तेजी से हमले- PSKS UP

Published: July 23, 2020 at 6:53 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email

अलीगढ़- लोकतंत्र के चौथे स्तंभ कहे जाने वाले (पत्रकार समाज) का अस्तित्व समाप्ति की ओर जा रहा है देश में आए दिन ऐसे मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं इस ओर किसी भी सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया है। अब तो आलम यह हो गया है कि गुंडे माफियाओं द्वारा आए दिन पत्रकारों को झूठे मुकदमों में फसाकर जेल भेज दिया जाता है। इसको देखते हुए देशभर के पत्रकारों में रोष व्याप्त है। हाल ही में गाजियाबाद के पत्रकार विक्रम जोशी की निर्मम हत्या कर दी गई। पुलिस ने आरोपियों को जेल तो भेज दिया पर अभी तक उनके ऊपर कड़ी कार्रवाई नहीं की गई।

आपको बता दें हाल ही में कानपुर कांड में शहीद हुए 8 पुलिसकर्मियों के परिजनों को सरकार द्वारा एक-एक करोड़ व सरकारी नौकरी सहायता राशि के रूप में दी गई हैं साथ ही सभी आरोपियों की धरपकड़ के साथ एनकाउंटर करके मार गिराया। इससे साफ स्पष्ट होता है कि पुलिस प्रशासन की करनी और कथनी में अंतर है। वही अपना बदला लेने के लिए अपने साथियों के हत्यारों को तो एनकाउंटर में मार गिराया परंतु जब पत्रकार की निर्मम हत्या कर दी गई जाती है तो पत्रकार क्या करें उसे भी अपनी आत्मरक्षा के लिए हथियार उठा लेना चाहिए? जो कानपुर कांड के बाद पुलिस ने आरोपियों को सजा दी है क्या उसी तरीके से उन हत्यारों को भी ऐसी ही सजा देनी चाहिए?

पत्रकार समाज कल्याण समिति मौजूदा सरकार से मांग करता है कि पत्रकारों के हत्यारों का हस्र भी उसी तरीके से होना चाहिए जिस तरीके से पत्रकारों के साथ किया जा रहा है।

इसको देखते हुए पत्रकार समाज कल्याण समिति जनपद अलीगढ़ के तहसील इगलास में संगठन के पदाधिकारियों द्वारा माननीय राज्यपाल महोदय उत्तर प्रदेश को उप जिला अधिकारी इगलास को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया और संगठन द्वारा मांग की गई कि मृतक पत्रकार विक्रम जोशी के परिजनों को 50 लाख रुपए, व एक सरकारी नौकरी, बच्चों की निशुल्क पढ़ाई, आने जाने का किराया माफ और सरकारी आवास की व्यवस्था भी मौजूदा सरकार द्वारा की जाए। पत्रकार समाज कल्याण समिति लंबे अरसे से पत्रकार सुरक्षा बिल पास किए जाने के लिए निरंतर मांग करती आ रही है।

पत्रकार समाज कल्याण समिति के संस्थापक/अध्यक्ष मा0 सूरजभान बघेल ने मौजूदा सरकार को चेताते हुए कहां कि अगर सरकार ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो सभी पत्रकार साथी एकजुट होकर धरना प्रदर्शन करने के लिए लामबंद होंगे। साथ ही शासन प्रशासन के कार्यों का बहिष्कार करेंगे।

इस मौके पर संगठन के प्रदेश प्रभारी आईटी सेल पंकज बघेल, मंडल महासचिव नरेंद्र शर्मा, जिला प्रभारी अलीगढ़ योगेश कौशिक, जिला महासचिव नितिन अग्रवाल, तहसील अध्यक्ष राजीव कुमार, तहसील सचिव बबलू पाठक, सुनील गुप्ता, विष्णु शर्मा, मोहित शर्मा, विशाल उपाध्याय, सहित दर्जनों पत्रकार साथी मौजूद रहे।




आधी रात के बाद थम गए एमपी जाने वाले ट्रकों के चक्के