Menu

घरों में अदा करें अलविदा एवं ईद-उल-फितर की नमाज : डीएम

Published: May 21, 2020 at 6:25 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email

अलीगढ़ 21 मई- जिला मजिस्ट्रेट चन्द्र भूषण सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुनिराज एवं सीडीओ अनुनय झा ने कोविड-19 संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुये जनपद के सभी मुस्लिम समाज से अपील करते हुये कहा है कि जुमा अलविदा एवं ईद-उल-फितर की नमाज अपने-अपने घरों में अदा करें। उन्होंने कहा कि शासन एवं प्रशासन कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिये दिन-रात एक किये हुये है। जनपदवासियों के सहयोग से हम जल्द ही कोरोेना पर विजय प्राप्त करेंगे। उन्होंने कहा कि समय से लाॅक डाउन होने की वजह से आज प्रदेश ही नहीं देश में अन्य देशों की तुलना में कोराना संक्रमण काफी कमजोर है। उन्होंने कहा कि शारीरिक दूरी और स्वच्छता के साथ ही भारत सरकार द्वारा निर्गत किये गये दिशा निर्देशों के शतप्रतिशत अनुपालन से हम कोरोना वायरस को अवश्य ही हरायेंगे।

डीमए ने कहा कि लाॅक डाउन में जनता को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता हर हाल में सुनिश्चित हो, इसके लिये समय-समय पर बैठकें आहूत कर तैयारियाॅ की गयीं और सभी को रोजमर्रा की आपूर्ति भी सुनिश्चित कराई गयी। पवित्र रमजान माह में हाॅट स्पाॅट एवं संक्रमण क्षेत्रों में भी सभी प्रकार की अपूर्ति सुनिश्चित कराई गयीं हैं। डीएम ने मुस्लिम समाज से पुरजोर अपील करते हुये कहा है कि अभी तक आप सभी ने जिला प्रशासन का सहयोग किया है आगे भी हम सहयोग की अपील करते हुये आप सभी से आग्रह करते है कि जुमा अलविदा और ईद-उल-फितर की नमाज शारीरिक दूरी को बनाते हुये अपने-अपने घरों में ही अदा करें।

सीडीओ अनुनय झा ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण को हम शारीरिक दूरी बना कर ही रोक सकते हैं। ईद के दौरान एक दूसरे को दी जाने वाली मुबारकबाद गले मिलकर एवं हाथ मिलाकर न दें। सोशल डिस्टेंसिंग का अवश्य ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि कोरोना विश्व्यापी महामारी है, जिसके निमित्त शादी विवाह से लेकर दर्शन पूजन के लिये मंदिर और नमाज को लेकर मस्जिदों को बंद रखने के आदेश हैं। इसका शत-प्रतिशत अनुपालन करना हम सभी की जिम्मेदारी है।

सीडीओ ने मुस्लिम समाज के धर्म गुरूओं से अपील करते हुये कहा है कि वह समाज में संदेश दें कि जुमा अलविदा और ईद-उल-फितर की नमाज घरों में ही अदा करने के साथ ही एक दूसरे को ईद की मुबारकबाद देने के लिये शारीरिक दूरी का पालन किया जाये।




अनलॉक 1.0: पास बनना बंद, आज से कहीं भी आ-जा सकेंगे