Menu

टीकाराम कन्या महाविद्यालय की NSS इकाई ने स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ किया टीबी जागरूकता कार्यक्रम

Published: January 30, 2020 at 8:07 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email




वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- टीकाराम कन्या महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना की इकाई द्वारा बुधवार को सिद्दार्थ पब्लिक स्कूल रमेश विहार कॉलोनी के सामने, स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ एक्टिव केस फाइंडिंग हेल्थ कैम्प तथा टीबी जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया। जिसमे जिला क्षय रोग केंद्र अलीगढ के अंतर्गत मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध निःशुल्क सेवाओं के बारे में बताया गया।

जिला कार्यक्रम समन्वयक सतेंद्र कुमार ने छात्राओं एवं ललोगो को टीबी के बारे में जानकारी दी गयी और बताया गया की कैसे दो हफ्ते या उससे अधिक की खांसी टीबी हो सकती है। जिसका अगर समय से इलाज न कराया गया तो रोगी की मौत भी हो सकती है। उन्होंने टीबी के लक्षणों के बारे में भी बताया कि खांसी में बलगम आना, बलगम में खून आना, समय बद्ध तरीके से बुखार का आना, वजन कम होना आदि भूख का ढंग से लगना आदि टीबी के प्रमुख लक्षण हैं। उन्होंने आगे बताया की कैसे टीबी का इलाज बीच में छोड़ने से एमडीआर जैसी खतरनाक टीबी होने का खतरा बढ़ जाता है, जिसका लगभग दो साल तक इलाज होता है जो कि सभी सरकारी अस्पताल में निशुल्क है, साथ ही इलाज के दौरान प्रत्येक टीबी मरीज को प्रति माह पोषण हेतु ₹500 दिए जाने का प्रावधान है। इसके अलावा किसी भी टीबी मरीज की प्रथम सूचना पर सूचनाकर्ता को ₹500 एवं इलाज सफलता पूर्वक पूर्ण होने पर ₹500 दिए जाने का प्रावधान है।

टीम में पीयूष गौतम ने दीनदयाल में उपलब्ध टीबी मरीजों की सुविधाओं के संबंध में बताया कि प्राइवेट डॉक्टर जो टीबी की दवा बाहर से मंगवाते है वही दवा सरकारी अस्पताल में नि:शुल्क है। अतः सभी लोग जिला क्षय रोग केंद्र अलीगढ द्वारा संचालित टीबी केंद्र से निशुल्क दवा का लाभ उठाये। साथ ही छात्राओं से आगामी एक्टिव केस फाइंडिंग में सतेन्द्र कुमार द्वारा कम्युनिटी वोलंटियर बनने को प्रेरित किया।

कार्यक्रम अधिकारी डॉ नीता वार्ष्णेय एवं डॉ कविता भारती ने बताया कि टीकाराम कन्या महाविद्यालय की एनएसएस इकाई से 2 छात्राये को पिछले एक्टिव केस फाइंडिंग में टीम मेंबर्स बनके भाग लिया था। जिसका अनुभव वहाँ शेयर किया गया साथ ही आगामी 17 फरवरी से 29 फरवरी तक चलने वाले एक्टिव केस फाइंडिंग में कार्य करने को प्रोत्साहित किया ऐसे वोलंटियर अपने अपने क्षेत्रों में रहने वाले लोगो वे नजर रखेंगे एवं किसी को भी टीबी लक्षण होने पर नजदीक के सरकारी अस्पताल में बलगम जांच करवाने हेतु प्रोत्साहित करेंगे। ऐसे वोलंटियर को समय समय पर विभाग द्वारा सम्मानित किया जाएगा।

टीकाराम कन्या महाविद्यालय अलीगढ की राष्ट्रीय सेवा योजना की कार्यक्रम अधिकारी डॉ. नीता वार्ष्णेय एवं डॉ प्रियंका ने वहा लोगो से अधिक से अधिक टीबी के लक्षण होने पर सरकारी अस्पताल जाने का आह्वान किया। कैंप में टीकाराम कन्या कॉलेज की छात्राओ ने भी आस पास की झुग्गी बस्तियों जाकर लोगो को टीबी के बारे में बताया एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये।





बरेली में स्वास्थ्यकर्मीं समेत 13 और कोरोना संक्रमित