Menu

कल्याणं करोति का दिव्यांग शिविर 29 को, नि:स्वार्थ भाव से असहायों की सेवा करना है परोपकार: स्वामी पूर्णानंदपुरी

Published: January 25, 2020 at 10:36 am

nobanner
Print Friendly, PDF & Email




वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- पं. दीनदयाल उपाध्याय विकलांग जन संस्थान, नई दिल्ली एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय(भारत सरकार) के सौजन्य से कल्याणं करोति सामाजिक संस्था मथुरा द्वारा महामंडलेश्वर स्वामी श्री पूर्णानंदपुरी जी महाराज के सानिध्य में 29 जनवरी को अलीगढ़ शहर के आगरा रोड स्थित लाल बहादुर शास्त्री कन्या महाविद्यालय में दिव्यांग सेवा शिविर का आयोजन किया जायेगा,इस उपलक्ष में शुक्रवार को स्वर्ण जयंती नगर सीजंस अपार्टमेंट स्थित वैदिक ज्योतिष संस्थान कार्यालय पर महामंडलेश्वर स्वामी श्री पूर्णानंदपुरी जी की अध्यक्षता में पत्रकार वार्ता आयोजित हुई।

इस अवसर पर महामंडलेश्वर स्वामी श्री पूर्णानंदपुरी ने शिविर की जानकारी देते हुए कहा कि मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है,परस्पर सहयोग उसके जीवन का एक आवश्यक एवं महत्वपूर्ण अंग है, मानव में दो प्रवृत्तियां कार्य कर रही हैं इनमें से एक है स्वार्थ साधन की तथा दूसरी है परमार्थ की,परमार्थ की भावना से किया कार्य परोपकार होता है। नि:स्वार्थ भाव से दीन हीन एवं निर्बलों, असहायों की सेवा करना ही ईश्वर की सच्ची सेवा है चाहे वो किसी भी जाति, धर्म,वर्ग या समुदाय से हो क्योँकि मानवता-जाति, धर्म, देश की सीमाओं में बंधी नहीं होती है, इसी के तहत इस शिविर के माध्यम से देश के तमाम दिव्यांगजनों की सेवा करने का वीणा कल्याणं करोति संस्था के अध्यक्ष सुनील शर्मा द्वारा उठाया जा रहा है।

इसी क्रम में संस्था के पदाधिकारी हरकेश प्रधान ने बताया कि आगरा रोड स्थित लाल बहादुर शास्त्री कन्या महाविद्यालय में 29 जनवरी प्रातः 9 बजे से आयोजित दिव्यांग सेवा शिविर के माध्यम से जरूरतमंद एवं गरीब असहाय दिव्यांगजनों को आवश्यक कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरण जैसे ट्राइसाइकिल, व्हील चेयर, कैलीपर्स, वैसाखी, आदि निःशुल्क उपलब्ध कराये जाने हेतु सुयोग्य डाक्टरों की टीम द्वारा परीक्षण कराकर पंजीकरण किया जायेगा।

भारतीय जनता युवा मोर्चा के मनोज शर्मा ने बताया कि यदि हम सब लोग असहाय लोगों की सहायता नि:स्वार्थ करें तो निश्चित ही आपसी सद्भाव एवं भाईचारे की भावना हम सब लोगों के अन्दर आएगी और भारत देश में खुशहाली भी आएगी।

पत्रकार वार्ता में गौरव शास्त्री, आर.के.वर्मा, कपिल शर्मा, हेमन्त राजपूत, मनोज शर्मा, गणेश वार्ष्णेय, आलोक बैंकर, ठाकुर सत्यपाल सिंह, संजय नवरत्न, रिषी शास्त्री, राकेश सक्सेना, वैद्य नीरज गोयल, देवेश पाठक, अशोक सक्सेना, अजय बरूला आदि उपस्थित रहे।