Menu

राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन 14 दिसम्बर को

Published: November 23, 2019 at 4:04 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email




राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन 14 दिसम्बर को, जिला न्यायाधीश की अध्यक्षता में लोक अदालत को सफल बनाने के लिए 29 नवम्बर से 13 दिसम्बर तक होंगी समन्वय बैठक

वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव तूलिका बन्धु ने यह जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण व उ0प्र0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार 14 दिसम्बर को दिन शनिवार को मुख्यालय एवं तहसील स्तर पर राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि लोक अदालत में फौजदारी के शमनीय वाद, धारा 138 एनआई एक्ट, धन वसूली, मोटर दुर्घटना प्रतिकर वाद, श्रम, विद्युत, जलकर, पारिवारिक, वैवाहिक, भूमि अर्जन अधिनिन्न, सेवा सम्बन्धी, राजस्व एवं दीवानी वाद एवं अन्य प्रकृति के मामले तथा प्री-लिटिगेशन के मामले जो न्यायालय में लम्बित न हो आदि का निस्तारण आपसी सुलह समझौते/सहमति के आधार पर किया जाएगा।

 

सुश्री बन्धु ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने हेतु 29 नवम्बर एवं 02 दिसम्बर को को दीवानी न्यायालय सभागार के मीडियेशन सेन्टर में अपरान्ह 03 बजे मा0 जिला जज, सभी अपर जिला जज एवं बीमा कम्पनी यूपी रोजडवेज एवं अधिकृत प्रतिनिधि, अधिवक्तगण पीडित पक्ष के साथ प्री ट्रायल बैठक करेंगे। इसी प्रकार 04 दिसम्बर को सांय 4 बजे प्रशासनिक अधिकारियों एवं विभागीय अधिकारियों/प्रतिनिधियों के साथ, 06 दिसम्बर को दीवानी न्यायालय सभागार के मीडियेशन सेन्टर में सांय 4 बजे बैंक अधिकारियों, वित्तीय संस्थाओं तथा टेलीफोन एवं मोबाइल कम्पनियों के प्रतिनिधियों के साथ समन्वय बैठक आहुत की गयी है। 09 दिसम्बर को सांय 04 बजे मा0 जिला न्यायाधीश समस्त न्यायिक अधिकारीगण के साथ बैठक करेंगे।

 

प्राधिकरण सचिव ने बताया कि 07 दिसम्बर से 13 दिसम्बर तक प्रतिदिन न्यायालय के समयोपरान्त न्यायालय के विश्राम कक्ष में मोटर दुर्घटना प्रतिकर वादो के निस्तारण हेतु प्री-ट्रायल बैठक आहुत की जाएगी जिसमें सभी अपर जिला जज एवं बीमा कम्पनी से सम्बन्धित अधिकृत प्रबन्धकगण व अधिवक्तगण प्रतिभाग करेंगे। इसके साथ ही 02 दिसम्बर से 13 दिसम्बर तक न्यायालय के समयोपरान्त न्यायालय में लम्बित विभिन्न प्रकति के मामलों के सम्बन्ध में पक्षकारों के साथ प्री ट्रायल मीटिंग आहुत की गयी है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में संबंधित न्यायालयों के पीठासीन अधिकारी अधिक से अधिक वादों का निस्तारण करें ताकि लोगो को त्वरित न्याय मिल सके। उन्होंने कहा कि सभी विभाग अपने स्तर से राष्ट्रीय लोक अदालत का वृहद रूप से प्रचार प्रसार भी करेंगें। साथ ही सूचनापट््ट पर सूचना एवं कार्यालय के बाहर वैनर अवश्य लगाया जाये ताकि और बेहतर प्रचार हो सके।