Menu

अलीगढ़: मुख्यमंत्री ने 898.94 करोड़ रूपये की परियोजनाओं का शिलान्यास व 236.86 करोड़ रूपये की परियोजनाओं का किया लोकार्पण

Published: September 14, 2019 at 8:22 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email




वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को इगलास स्थित लाल बहादुर शास्त्री इण्टर कॉलेज के सामने मैदान में आयोजित केन्द्र एवं राज्य सरकार की प्रमुख विकास योजनाओं की प्रदर्शनी एवं लाभार्थी मेला तथा 1135.80 करोड़ रूपये की लागत की 355 विकासपरक परियोजनाओं के शिलान्यास एवं लोकार्पण कार्यक्रम में सर्वप्रथम विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गयी विकास एवं लाभार्थीपरक प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक फलाहार की टोकरी भेंट करते हुए 06 माह के बच्चे को अन्नप्रासन कराने के साथ ही पंचायतीराज, महिला कल्याण, उद्योग, उद्यान, कृषि, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, डूडा, नेडा आदि का भ्रमण कर जानकारी प्राप्त की।

तत्पश्चात मुख्यमंत्री ने जनपद के चहुमुॅखी विकास हेतु लगभग 898.94 करोड रू0 की लागत की 183 विकास परियोजनाओं- 117 करोड़ रूपये की लागत से उ0प्र0 राज्य सेतु निगम के तहत 02 सेतुओं का निर्माण, 255 करोड़ रूपये की लागत से जल निगम के तहत 03 पुर्नगठन योजना, 448 करोड़ रूपये के स्मार्ट सिटी कार्य, 22.96 करोड़ रूपये से 43 सड़क, आंगनबाड़ी, आशा ज्योति केन्द्र निर्माण कार्य, 16.25 करोड़ रूपये से नगर निकायों में 14 वां वित्त, राज्य वित्त एवं पं0 दीनदयाल आदर्श नगर योजना के अन्तर्गत 37 निर्माण कार्य, 8.10 करोड़ रूपये की लागत से एक ग्रामीण सड़क का निर्माण, 7.30 करोड़ रूपये से 69 मिट्टी भराव, नाली एवं इण्टरलॉकिंग कार्य, 5.41 करोड़ रूपये से 03 ग्रामीण सड़कों का निर्माण, 5.02 करोड़ रूपये से एक ड्राइविंग ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, 4.14 करोड़ रूपये से 03 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का निर्माण, 4.14 करोड़ रूपये से 03 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का निर्माण, 3.69 करोड़ रूपये से 13 चैक डेम निर्माण/तालाब जीर्णोद्धार कार्य, 2.77 करोड़ रूपये से एक राजकीय इण्टर कॉलेज का निर्माण, 1.20 करोड़ रूपये से ब्लॉक गंगीरी के ग्राम नबीपुर में वृहद गौ संरक्षण केन्द्र तथा 62 लाख रूपये की लागत से एक जन सुविधा केन्द्र के निर्माण कार्य का शिलान्यास तथा 236.86 करोड़ रूपये की लागत की 172 परियोजनाओं- 87.35 करोड़ रूपये से निर्मित होम्योपैथिक मेडीकल कॉलेज, 53.44 करोड़ रूपये से 12 ग्रामीण सड़कें, 31.4 करोड़ रूपये से निर्मित सेतु, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग द्वारा 15.94 करोड़ रूपये से निर्मित 79 सड़क निर्माण कार्य, 11.72 करोड़ रूपये से निर्मित 02 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, 11.21 करोड़ रूपये से 14 वां वित्त/राज्य वित्त आयोग के अन्तर्गत 53 निर्माण कार्य, 9.51 करोड़ रूपये से निर्मित 04 गौ संरक्षण एवं पॉलीक्नीनिक केन्द्र, 6.09 करोड़ रूपये से ब्लॉकों में 02 भवनों का निर्माण, जिला पंचायत एवं नगर विकास के तहत 5.23 करोड़ रूपये से 14 इण्टरलॉकिंग एवं सम्पर्क मार्ग निर्माण कार्य, 1.95 करोड़ रूपये से पर्यटन विभाग के तहत सौन्दर्यीकरण के कार्य, 1.83 करोड़ रूपये से निर्मित 60 सीट के महिला छात्रावास के साथ ही शेखाझील पर 1.19 करोड़ रूपये से निर्मित प्रशासनिक भवन आदि का लोकार्पण बटन दबाकर किया।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि जनपद में 1135.80 करोड़ रूपये की योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया गया है जो अलीगढ़ के विकास के लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण है, अलीगढ़ ताला एवं हार्डवेयर के नाम से विश्व में प्रसिद्ध है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों की लापरवाही की वजह से यहां के उद्योग धन्धे बन्दी के कगार पर थे जिन्हें ओडीओपी, डिफेन्स कॉरीडोर की स्थापना कर के आगे बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सोनभद्र जनपद में अपात्रों को जमीन के पट्टे दिये गये हैं जिन्हे निरस्त करते हुए गरीबों, आदिवासियों को कृषि भूमि एवं आवास हेतु आवंटित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार बनने के 24 घण्टे में गौकशी एवं अवैध बूचढ़खाने बन्द करा दिये गये। गौवंश की रक्षा के लिए पूरे प्रदेश में गौ आश्रय स्थल/गौ शालाओं का निर्माण कराते हुए उनमें निराश्रित गौवंशों को रखा जा रहा है इससे उन्हें आश्रय स्थल प्राप्त होने के साथ-साथ किसानों की फसलों की भी सुरक्षा हो रही है। उन्होंने कहा कि गौवंश पालन को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक किसान को 04 गायों के पालन हेतु प्रतिमाह प्रति गाय 900 रूपये की दर से चारा हेतु अनुदान दिया जा रहा है। किसान उनके गोबर एवं मूत्र से जैविक खाद बनाकर भी अपनी आर्थिक स्थित मजबूत कर सकेंगे।

श्री आदित्यनाथ ने स्व0 महाराजा महेन्द्र प्रताप सिंह द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में जो कार्ययोजना बनाई गयी थी उसे आगे बढ़ाते हुए ब्लॉक लोधा में महाराजा महेन्द्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय स्थापित किये जाने की घोषणा करते हुए कहा कि अलीगढ़ जनपद शिक्षा के क्षेत्र में भी एक संग-ए-मील बनेगा। उन्होंने कहा कि देश एवं प्रदेश के विकास के लिए शान्ति एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण का होना आवश्यक है, पूर्व की सरकारों में हर दूसरे दिन कहीं न कहीं दंगे होते रहे हैं लेकिन वर्तमान सरकार की ढ़ाई वर्ष की अवधि में कहीं भी दंगा-फसाद नहीं हुआ है। प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहतर है उन्होंने कहा कि पारदर्शिता को अपनाते हुए 2 लाख से अधिक नौजवानों को नौकरी प्रदान की गयी है, 5 वर्ष में 25 लाख लोगों को सरकारी एवं औद्यौगिक क्षेत्रों में रोजगार दिये जाएंगे। उन्होंने कार्यक्रम में मॉडल शौचालय, आयुष्मान भारत, अन्त्योदय कार्ड, विधवा, वृद्धा एवं दिव्यांग पेंशन, प्रधानमंत्री आवास, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना, उज्जवला, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन आदि योजनाओं के तहत लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र एवं चेक प्रदान किये। उन्होंने कहा कि कश्मीर में आतंकवाद की वजह से विकास अवरूद्ध था अब वहां धारा 370 को समाप्त कर दिया गया है जिससे आतंकवाद के सफाये के साथ-साथ वहां पर चहुॅमुखी विकास का मार्ग प्रशस्त होगा। उन्होंने कहा कि नारी को सुरक्षा तथा उनकी गरिमा के सम्मान के लिए भी विशेष पहल करते हुए तीन तलाक प्रथा पर केन्द्र सरकार द्वारा रोक लगा दी गयी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा विकास को प्राथमिकता देते हुए जीवन के हर क्षेत्र में हम आगे बढ़ रहे हैं और हमारा प्रदेश विकास के पथ पर निरन्तर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि विकास एवं लाभार्थीपरक योजनाओं में अलीगढ़ जनपद को विशेष स्थान दिया जाएगा।

इस अवसर पर शिक्षा राज्य मंत्री संदीप सिंह, सांसद सतीश गौतम, एटा सांसद राजवीर सिंह, हाथरस सांसद राजवीर सिंह दिलेर ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। कार्यक्रम में श्रम बोर्ड के अध्यक्ष ठा0 रघुराज सिंह, उ0प्र0 एससी एसटी आयोग के सदस्य ओ0पी0 नायक, विधायक ठा0 दलवीर सिंह, ठा0 रवेन्द्र पाल सिंह, संजीव राजा, अनिल पाराशर, अनूप प्रधान, भाजपा जिलाध्यक्ष ठा0 गोपाल सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष ठा0 उपेन्द्र सिंह नीटू के अन्य जनप्रतिनिधि सहित मण्डलायुक्त अजय दीप सिंह, जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह, सीडीओ अनुनय झा के अतिरिक्त कार्यक्रमों के प्रभारी अधिकारी एवं लाभार्थी उपस्थित थे। अन्त में जनपद प्रभारी मंत्री सुरेश राणा द्वारा महाराजा महेन्द्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय स्थापित करने की घोषणा पर समस्त जनपदवासियों की ओर से आभार व्यक्त किया गया।






L

Leave a Comment

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>