Menu

2 जुलाई को सूर्यग्रहण प्रभावहीन, 16 जुलाई को चन्द्रग्रहण रहेगा प्रभावी: स्वामी पूर्णानंदपुरी

Published: July 1, 2019 at 8:32 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email




वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- 6 अप्रैल 2019 से 24 मार्च 2020 तक विक्रम संवत 2076 में समस्त भूमंडल पर तीन ग्रहण जिनमें दो सूर्यग्रहण एवं एक चंद्रग्रहण हैं।। 2 जुलाई 2019 आषाढ मास की अमावस्या मंगलवार की रात्रि में भारतीय स्टैण्डर्ड टाइम के अनुसार 23:31 से 26:14 बजे के मध्य भारत के आलावा पश्चिम के देश अर्जेंटीना, बोलीविया, ब्राजील, चिली, कोलंबिया, क्रुकद्वीप, कोस्टारिका, ईस्टरद्वीप, एक्वाडोर, फ्रेंच पोलीनीशिया, निकारागुआ, पनामा, पराग्वे, पेरू और उरुग्वे देशो में खग्रास सूर्यग्रहण होगा। भारतीय समय के अनुसार रात्रि होने की वहज से यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। भारत में अद्र्श्य होने के कारण सूतक पातक भी अमान्य रहेंगे।

उपरोक्त जानकारी देते हुए वैदिक ज्योतिष संस्थान के अध्यक्ष एवं महामंडलेश्वर स्वामी पूर्णानंद पूरी जी महाराज ने बताया कि इसके बाद 16 जुलाई 2019 अषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा मंगलवार की रात्रि 1:31 मिनट से 4:30 मिनट तक की समयावधि में अधिक चंद्रग्रहण जिसे पूरे भारत में देखा जा सकेगा।

आगामी ग्रहण की जानकारी देते हुए परम पूज्य स्वामी श्री पूर्णानंदपुरी जी महाराज ने बताया कि बनारस से पूर्वी क्षेत्र बिहार, असम, बंगाल, उड़ीसा आदि राज्यों में चन्द्रमा ग्रस्ता हुआ ही अस्त हो जाएगा। जहाँ ग्रस्ता हुआ अस्त होता है,वहां अग्रिम दिन गृह पिंड के दर्शन होंने पर ही सत्कर्म विधान किया जाता है। 16 जुलाई वाले ग्रहण से जुड़े सूतक के बारे में स्वामी जी ने बताया कि चंद्रग्रहण सूतक गुरुपूर्णिमा मंगलवार सांय 4 बजकर 31 मिनट से प्रारंभ हो जायंगी।

सूतकों में बाल,वृद्ध,रोगी, आसक्तजनों को छोड़कर अन्य किसी को भोजन, शयनआदि नहीं करने चाहिए। सत्यनारायण व्रत कथा गुरुपूजा आदि सूतक प्रारंभ होने से पूर्व ही संपन्न कर लेनी चाहिए। वहीँ जिन विदुषी महिलाओं के उदर में शिशु पल रहे हों, उन्हें तीक्ष्ण धारदार चाकू, इत्यादि से फल सब्जी नहीं काटनी चाहिए तथा खाने वाले सामान पर गेरू या कुशा रखना चाहिए। इस वर्ष गुरुपूर्णिमा वाले दिन भद्रवास पाताल में रहने के कारण व्यवधान का करक नहीं होगा।

स्वामी जी ने राशिफल से तुलना करते हुए ग्रहण के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह चंद्रग्रहण धनु मकर राशि एवं उत्तराषाढा नक्षत्र में हो रहा है। इसलिए कुम्भ, मीन, वृष, मिथुन, कन्या, तुला राशि वालों के लिए यह चंद्रग्रहण शुभ फलदायक होगा वहीँ कर्क, सिंह, मेष, वृश्चिक राशी वालों के लिए यह चंद्रग्रहण कम लाभदायी रहेगा। अन्य राशियों के लिए माध्यम प्रभाव वाला होगा।






Leave a Comment

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>