Menu

इन्द्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल्स के डॉक्टरों ने लिवर रोगों एवं लिवर ट्रांसप्लान्ट के प्रति किया जागरूक

Published: January 19, 2019 at 10:06 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email




वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़,19 जनवरी, 2019- इन्द्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल्स ने शनिवार को लिवर ट्रांसप्लान्ट पर एक जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन होटल आभा रेज़ीडेन्सी में किया। जिसमें इस प्रक्रिया की जटिलताओं तथा आधुनिक इनोवेशन्स के बारे में जानकारी दी गई। कार्यक्रम का आयोजन इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन, अलीगढ़ के सहयोग से किया गया। इन्द्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल्स नई दिल्ली ने लिवर रोगों के कारणों, लक्षणों एवं रोकथाम के उपायों पर रोशनी डाली तथा लिवर ट्रांसप्लान्ट के बारे में बताया।

डॉ हितेंद्र गर्ग नेकहा कि लिवर रोगों के कई कारण हैं। हालांकि एल्कॉहलिक सिरहोसिस लिवर रोगों का दूसरा सबसे बड़ा कारण है, लिवर रोगों के कारण होने वाली 40 फीसदी मौतें इसकी वजह से ही होती हैं। अक्सर ऐसे मामलों में लिवर ट्रांसप्लान्ट ही इलाज का एकमात्र विकल्प होता है। इसलिए अगर लिवर ट्रांसप्लान्ट की बात करें तो इसके फायदे जोखिम की तुलना में कहीं अधिक है। लिवर के रीजनरेटिव गुणों के कारण यह खुद ही अपने आप को ठीक कर लेता है। हालांकि अगर लिवर को बहुत ज़्यादा नुकसान पहुंचा हो तो यह लिवर सिरहोसिस का कारण बन सकता है। अगर इसका इलाज समय पर न किया जाए तो लिवर फेलियर हो सकता है जो एक जानलेवा स्थिति है।

डॉक्टरों ने बताया कि वे मरीज़ जो आईसीयू में बहुत ज़्यादा बीमार हैं, कुपोषित हैया जिनमें बहुत ज़्यादा संक्रमण है, उन्हें सर्जरी से पहले विशेष देखभाल और इलाज की ज़रूरत होती है ताकि लिवर ट्रांसप्लान्ट के सही परिणाम मिल सकें। अच्छे परिणाम पाने के लिए लिवर ट्रांसप्लान्ट का समय बहुत सोच समझ कर ही तय किया जाता है। इस अवसर पर डॉ संजीव कुमार, डॉ भरत वार्ष्णेय आदि उपस्थित रहे।






Leave a Comment

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>