Menu

टी0वी0 मरीजों की पहचान के लिए लगी 133 टीम, होगा 41,0000 लाख लोगों का परीक्षण

Published: January 10, 2019 at 8:55 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email




वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- 07 जनवरी से 17 जनवरी तक टीवी0 मरीजों को पहचान के लिये चलाये जा रहे सघन सर्वेक्षण अभियान में 133 टीमों को लगाया जायेगा, जो जनपद की जनसंख्या का 10 प्रतिशत लक्षित करके 41,0000 लाख लोगों का परीक्षण किया जायेगा।

जिसमें मुख्य रूप से रसलगंज, सराय रहमान, सराय लवरिया, सराय भूखी सराय भूसिया, सराय वृन्दावन, सामना पाडा, काजी पाडा, सराय नवाव, पला साहिबाबाद, नगला पला, गंभीरपुरा, महेन्द्र नगर, धोबी वाली गली, सराय सुल्तानी, दुबे का पडाव, शीशियापाडा, ऊपरकोट, भुजपुरा, जयगंज, नगला मसानी, नगला कलार, लक्षमपुर, बीमापुर, नई बस्ती, महफूज नगर, जलालपुर, नीवरी आदि क्षेत्रों में लोगों की घर घर जाकर टी0वी0 लक्षणों का आधार स्कींनिग करेगी साथ मे किसी मरीज को संदिग्ध पाये जाने पर उसके वलगम को निकटतम जॉच केन्द्र के लिये भेजा जायेगा।

 मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 एम एल अग्रवाल ने जानकारी देते हुये बताया कि जिन संदिग्ध रोगियों में टी0वी0 की पुष्टि होगी उस मरीज का इलाज 48 घंटे में शुरू कर दिया जायेगा। ऐसे टी0वी0 के मरीजो का निक्षय पोषण अभियान के तहत 500 रू0 डीबी0टी0 के जरिये दिये जायेंगे। उन्होने बताया कि दो सप्ताह से अधिक समय की खॉसी, दो सप्ताह से अधिक समय का बुखार लगातार वनज कम होना पिछले 6 माह के दौरान किसी भी समय बलगम में खून का आना, पिछले एक माह में छाती मे दर्द रहना आदि टी0वी0 के संदिग्ध रोगियों की पहचान है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि पिछले दो दिनों में एसीएफ के दौरान क्रमश: तीन तथा सात मरीजो को टी0वी0 निकली है जिन्हे इलाज पर रख लिया गया है। जिन मरीजों का बलगम नेगेटिव होगा उन सभी मरीजो के एक्सरे कराये जाने के पश्चात सीबी0 नॉट की जॉच की जायेगी।

जिला कोर्डिनेटर सतेंद्र कुमार ने बताया कि अलीगढ में दिसम्बर 2017, मार्च 2018, जून 2018 तथा सितम्बर 2018 एक्टिव केस फाइडिंग के चार राउण्ड पूरे हो चुके है जिनमें क्रमश: 96,86,118 एवं 90 मरीज टी0वी0 के पाये गये हैं जिनका इलाज पूरा किया जा चुका है।





Leave a Comment

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>