Menu

एससी एसटी आयोग के सदस्य ओमप्रकाश नायक ने बैठक में अधिकारियों को दिए दिशा निर्देश

Published: October 22, 2018 at 7:35 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email




वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- उ0प्र0 अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग के सदस्य ओमप्रकाश नायक ने सोमवार को पीडब्लूडी गैस्ट हाउस में सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक में जिला समाज कल्याण अधिकारी नागेन्द्र पाल सिंह को निर्देश देते हुए कहा कि अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार उत्पीडन सहायता से सम्बन्धित समस्त प्रकरणों को 15 दिन में निस्तारित कर दिया जाए कोई भी प्रकरण लम्बित न रहने पाये। उन्होंने बताया कि अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) नियमावली 1995 को केन्द्र सरकार द्वारा संशोधित करते हुए अधिनियम में 25 और अपराधों को जोड़कर और प्रभावकारी बनाया गया है पूर्व नियमावली के अनुसार अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार उत्पीडन के मामले में एफआईआर दर्ज कराए जाने पर आपवादित मामलों को छोड़कर आर्थिक सहायता की राशि नहीं मिल पाती थी संशोधित नियम के तहत अब एफआईआर दर्ज कराने पर ही आर्थिक सहायता की 25 से 50 प्रतिशत धनराशि तत्काल दिए जाने का प्राविधान किया गया है। उन्होंने बताया कि गंभीर हत्या जैसे मामलों में आर्थिक सहायता की धनराशि 8.25 लाख रूपये तक दिए जाने का प्राविधान है।

श्री नायक ने ब्लॉक अकराबाद के ग्राम पंचायत दुबिया में मण्डी समिति द्वारा नाली एवं सड़क निर्माण कार्यो का स्थलीय निरीक्षण कर खामियों को दूर करने के निर्देश देते हुए कहा कि जल निगम द्वारा सड़कों के बीच में पेयजल पाइप डाला गया है जो ठीक नहीं है उसका स्थलीय सत्यापन कर ठीक कराया जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश एवं केन्द्र सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का क्रियान्वयन ईमानदारी से पारदर्शी प्रक्रिया को अपनाते हुए किया जाए ताकि सभी वर्गो के पात्र व्यक्तियों को योजनाओं से लाभान्वित किया जा सके। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी सरकार की मंशा के अनुरूप ईमानदारी से काम करते हुए अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें।

श्री नायक ने बताया कि बंजारा समाज को अनुसूचित जाति में शामिल करने के लिए 1998 में सर्वे कराकर भारत सरकार को रिपोर्ट प्रस्तुत की गयी थी जिसे अपूर्ण एवं मानक के अनुरूप न पाए जाने पर 2016 में खारिज कर दिया गया है। पुनः प्रदेश सरकार द्वारा बंजारा जाति का सर्वे कराया जा रहा है जिसके तहत सोमवार से 26 अक्टूबर तक शोध अधिकारी छत्रपाल वर्मा द्वारा हाथरस एवं अलीगढ़ जनपद में निवास करने वाले बंजारों का सर्वे किया जाएगा। दूसरी टीम द्वारा कौशाम्बी एवं बहराइच में भी सर्वे का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व औरेया, इटावा, एटा, मैनपुरी, कासगंज, फिरोजाबाद, कन्नौज, फर्रूखाबाद का सर्वे कर लिया गया है। प्रदेश के सभी जनपदों का सर्वे कार्य पूर्ण होने के पश्चात प्रदेश सरकार द्वारा भारत सरकार को रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी।

इस अवसर पर एडीएम प्रशासन आर0एन0 शर्मा, एडीआईओएस, मण्डी समिति, अधिशासी अभियंता जल निगम आदि अधिकारी उपस्थित थे।






Leave a Comment

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>