Menu

अलीगढ़ : पुलिस ने किया बच्चे की हत्या का खुलासा, मुकदमेबाजी की भेंट चढ़ा मासूम जितेंद्र

Published: June 14, 2018 at 7:24 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email




वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- थाना अकराबाद इलाके के मिर्जा चांदपुर गांव में गत दिनों हुई बच्चे की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि पांच आरोपी फरार हो जाने में सफल हो गये। मृतक बच्चे का शव नाले में पड़ा मिला था। मासूम बच्चा दो पक्षों में मुकदमेबाजी की भेंट चढ़ गया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने जानकारी देते हुए बताया कि थाना अकराबाद इलाके के गाँव मिर्जा चांदपुर निवासी बुंदू खां नाम के व्यक्ति की बेटी गाँव के ही एक युवक के साथ चली गई थी, जिसके बाद युवक के परिवारीजनों ने कोर्ट में जाकर दोनों की शादी करा दी। जिसके बाद बुंदू ने युवक के परिवारीजनों तथा सहयोगियों के खिलाफ सम्बंधित थाने में मुक़दमा पंजीकृत करा दिया। बुंदू द्वारा मुकदमा होने के बाद सभी आरोपी पक्ष के लोग परेशान होने लगे। जिसमें एक आरोपी ने प्लान किया कि बुंदू को किसी केस फंसा दिया जाये तो वह इस केस की पैरवी नहीं कर पायेगा। इसी प्लान को अमलीजामा पहनाते हुए बुंदू खां द्वारा दी गई तहरीर में में नामजद कलुआ नाम के युवक के छोटे भाई का अपहरण कर उसकी हत्या करना तय कर लिया और प्लान में कुछ अन्य लोग भी शामिल कर लिए।

एसएसपी ने बताया कि प्लान के मुताबिक कलुआ के करीब पांच वर्षीय छोटे भाई जितेंद्र को मोहल्ले में से खेलते हुए अपहरण कर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और शव को नाले में फेंक दिया। कलुआ के पिता श्रीपाल द्वारा मृतक मासूम बच्चे जितेंद्र की हत्या में बुंदू व उसके परिवारीजनों को नामजद करा दिया गया।

जब पुलिस ने मामले की जांच की तो पता चला कि यह सारा मामला दोनों तरफ से मुकदमेबाजी का है, इसी के तहत षड़यंत्र कर जितेंद्र की हत्या की गई है। पुलिस ने जब शक के चलते आरोपियों से पूंछताछ की तो सब मामला खुल गया।

पुलिस ने सात आरोपियों में से मुजमिल और मंसूर निवासी मिर्जा चांदपुर को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि फरार पांच आरोपियों की तलाश में पुलिस जुटी है। एसएसपी अजय कुमार साहनी ने खुलासा करने वाली पुलिस टीम को दस हजार रूपये का इनाम देने की घोषणा की है।

गिरफ्तार करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार, उप निरीक्षक शमीम अहमद, उप निरीक्षक सचिन कुमार, उप निरीक्षक सोहन वीर सिंह, कां अंकुर कुमार शामिल रहे।






आक्रोश में अन्नदाता: धरना-प्रदर्शन कर रास्ता किया जाम, दुकानें बंद कराईं, विधेयक की प्रतियां जलाईं