Menu

अलीगढ़ : तीन मासूम बच्चियों के कातिल “साइको किलर” को पुलिस ने किया गिरफ्तार, भेजा जेल

Published: April 14, 2018 at 8:15 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email





वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- जम्मू कश्मीर के कठुआ में मासूम बच्ची के साथ हुई घटना के बाद जहां देश में हाहाकार मचा हुआ है, वहीं अलीगढ़ की थाना कोतवाली पुलिस ने 9 अप्रैल को अपहत हुई मासूम आलिया सहित तीन मासूम बच्चियों की हत्या के आरोपी साइको किलर को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। आरोपी को जेल भेज दिया गया है।

एसएसपी राजेश कुमार पाण्डेय ने जानकारी देते हुए बताया कि देहलीगेट निवासी आरोपी शकील अपने साले की दो मासूम बेटियों की दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में सजा काट रहा था, जेल में सजा काटने के दौरान शकील की दूसरे कैदी सगीर की पत्नी सीमा से जेल में मुलाकात करते हुए जान पहचान हो गयी।

आरोपी शकील जेल से छुटने के बाद अपने साथी कैदी सगीर के घर पहुंच गया और उसकी पत्नी सीमा के लिविंग रिलेशनशिप में रहने लगा। कुछ समय बीतने के बाद सीमा को सगीर की जेल से रिहाई की सूचना मिली तो सीमा ने शकील से दूर रहने का मन बना लिया और उसे घर से जाने को कह दिया। लेकिन शकील सीमा से निकाह कर साथ रहने की जिद करने लगा। लेकिन सीमा ने निकाह से इंकार कर दिया। यह बात शकील को नागवार गुजरी और उसने सीमा को सबक सिखाने की ठान ली।

आरोपी शकील सीमा की दो साल की मासूम बेटी आलिया को कपड़े दिलाने के बहाने घर से ले गया और उसकी हत्या कर शव को गांव नींवरी स्थित खाली प्लॉट में भरे पानी में फेंक दिया। सीमा की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज जांच शुरू कर दी और शकील को गिरफ्तार कर लिया।

सीओ सिटी प्रथम विशाल पांडेय और थाना प्रभारी राजीव सिरोही ने आरोपी से कई बार पूंछताछ की। पुलिस की सख्ती के सामने शकील टूट गया और अपना गुनाह कबूल कर लिया। पुलिस ने शकील की निशानदेही पर बच्ची का शव बरामद कर लिया है। पुलिस ने आरोपी को जेल भेज दिया है।

गिरफ्तार करने वाली टीम में थाना प्रभारी राजीव सिरोही,
उपनिरीक्षक अरविंद कुमार, उपनिरीक्षक दीपेंद्र बालियान, उपनिरीक्षक अंजू रानी, उपनिरीक्षक कुमार पौरुष मावी, कां. रोहित राठी, जहीर हुसैन शामिल रहे।






Leave a Comment

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>