Menu

केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ0 सत्यपाल के बयान की अवस्थी ज्योतिष संस्थान ने की निंदा

Published: December 20, 2017 at 6:08 pm

nobanner
Print Friendly, PDF & Email

वीपीएल न्यूज़, अलीगढ़- अवस्थी ज्योतिष संस्थान के आचार्यो एवं पदाधिकारिओं ने गंगा संरक्षण राज्यमंत्री डॉ0 सत्यपाल जी के बयानों की घोर निन्दा की। केन्द्रीय राज्य मंत्री ने मंगलवार को हरिद्वार ऋषि कुल में नमामि गंगे योजना के राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के तहत प्रस्तावित 32 योजनाओं के लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए कहा था कि अस्थियों के विसर्जन साधु सन्तों के जल समाधि लेने या फिर फूल अर्पित करने की वजह से भी गंगा प्रदूषित हो रही है।

अवस्थी ज्योतिष संस्थान के प्रमुख आचार्य आदित्य नारायण अवस्थी ने कहा कि माँ गंगा एवं यमुना जी में जा रहे नालो को रोका जाये नालों का पानी खेतों मे किसानों के लिए दिया जाये या नालों के पानी की अलग व्यवस्था की जाये। आचार्य ने कहा कि राजा भगीरथ अपने पुरखो 60 हजार सगर पुत्रो की अस्थियाँ बहाने के लिए ही गंगा को स्वर्ग से पृथ्वी पर लाए थे। माँ गंगा विश्व की एक मात्र ऐसी नदी है, जिसका आगमन अस्थि प्रवाह के प्रयोजन से हुआ है।

सनातन धर्म एवं हिन्दुत्व पर बोझ बनने वाले राज्यमंत्री सत्यपाल सिंह को तत्काल पद से हटाया जाए। आचार्य आदित्य नारायण अवस्थी ने कहा गरूण पुराण में उल्लेख है कि जीव की हड्डियाँ जितने वर्षों तक माँ गंगा में रहती है। उतने हजार वर्षों तक वह स्वर्ग लोक मे वास एवं सम्मानित रहता है। हिन्दुओं की धार्मिक मान्यता के अनुसार अस्थियों को गंगा मे प्रवाहित करने मे मृतक की आत्मा को शान्ति मिलती है। पतित पावनी मोक्ष दायिनी गंगा के पवित्र जल के स्पर्श से मृतक की आत्मा के लिए स्वर्ग के द्वार खुल जाते हैं।

इस मौके पर राम कथा प्रवक्ता कपिल वशिष्ठ जी महाराज, भागवत् भूषण देवेन्द्र वशिष्ठ जी महाराज, अनिल दीक्षित, अजय शुक्ला, शालनी अवस्थी, वैष्णवी, जया एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।




Leave a Comment

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>