Menu

करोड़ों की धोखाधड़ी के आरोप में चौरिटेबल ट्रस्ट के सात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

Published: September 8, 2017 at 8:26 pm

nobanner
Print Friendly

विशाल उपाध्याय, इगलास- एक शिक्षण संस्थान का संचालन करने वाले ट्रस्ट की न्यासी ने ट्रस्ट के सात लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी कर करोड़ों रुपये का बैंक लॉन लेकर खुर्दबुर्द करने की रिपोर्ट कोर्ट के आदेश पर दर्ज कराई है।

अलीगढ़ के कृष्ण बिहार, पला रोड निवासी योगिता पत्नी नितेन्द्र सिंह का कहना है कि वह ब्रज चौरिटेबल फाउंडेशन अलीगढ़ (ट्रस्ट) की मूल व वर्तमान न्यासी है। उक्त ट्रस्ट ब्रज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ऑफ टैक्नोलॉजी शिक्षण संस्था का संचालन करता है जो इगलास क्षेत्र में मथुरा रोड पर है। उक्त ट्रस्ट के नीलम कौशिक पत्नी विवेक कौशिक निवासी अकबरपुर, सासनी (हाथरस) व सतेन्द्र कुमार पुत्र कालीचरन निवासी सहरोई भानौली, खैर भी न्यासी हैं।

पीड़िता का कहना है कि न्यास के कुछ सदस्यों द्वारा अपने पद से त्यागपत्र देने पर रिक्त पदों पर नवीन न्यासियों की नियुक्ति की गई। जिसमें राकेश पुत्र मदन मुरारी निवासी ग्रीन पैराडाइज, ग्रेटर नोएडा इनकी पत्नी पिंकी, मां कलावती, पिता मदन मुरारी निवासी कस्तूरबा पथ नार्थ कृष्णापुरी, पटना (बिहार) तथा मीनाक्षी पत्नी नितीश सिंह निवासी शैवालकर गार्डन अपार्टमेंट, मैट चौक दक्षिणी अम्बाजरी रोड नगापुर (महाराष्ट्र), राजकिशोर सिंह पुत्र बच्चू प्रसाद व इसकी पत्नी उर्मिला देवी निवासी गणेश निवास, पटेल नगर, मुय्या डीह जमशेदपुर (बिहार) हैं जो आपस में रिश्तेदार है। आरोप है कि न्यास के अध्यक्ष राकेश सिंह व नवनियुक्त न्यासीगण ने कार्पोरेशन बैंक शाखा इंडस्ट्रीयल एरिया फेज-1 मायापुरी दिल्ली के कर्मचारियों के साथ षडयंत्र कर फर्जी कूटरचित कागजात प्रयुक्त कर बिना ट्रस्ट की बैठक बुलाकर ट्रस्ट के कालेज की संपति को गिरवी रखकर करोड़ों रुपये का लोन प्राप्त कर खुर्दबुर्द कर दिया। उनका कहना है कि षडयंत्र में उक्त लोग व बैंककर्मचारी दोषी है।

पीडित का कहना है कि इस संबंध में उसे एक समाचार पत्र में नोटिस प्रकाशित होने के बाद जानकारी पर बैंक पहुंची। लेकिन वहां किसी कर्मचारी ने कोई स्पष्ट जबाब नहीं दिया। आरोप है कि इस संबंध में राकेश सिंह ने भी गोलमोल जबाब दिया और अपना मुंह बंद रखने अन्यथा देख लेने की धमकी दी। कोतवाल अरविंद कुमार राठी ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर सात लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज की गई है। जांच कर कार्रवाई की जाएगी।




Leave a Comment

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>